Header Ads

ताज़ा खबर
समाचार

''टोपी पहनकर टीवी पर बोलने से नहीं बन जाते मौलाना'', ढोंगी बाबाओं के बाद आएगी फर्जी मौलानाओं की लिस्‍ट! farzi mulana list

अखाड़ा परिषद के बाद अब आल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड भी फर्जी मौलानाओं पर शिकंजा कसने की तैयारी कर रहा है.


नई दिल्ली: अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद ने कुछ दिन पहले फर्जी बाबाओं की लिस्ट जारी की थी. राम रहीम के रेप में दोषी पाए जाने और सजा के ऐलान के बाद परिषद ने एक बैठक कर ऐसी लिस्ट बनाने का फैसला किया था. अखाड़ा परिषद के बाद अब ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड भी फर्जी मौलानाओं पर शिकंजा कसने की तैयारी कर रहा है. इसके लिए जल्द ही एक प्रस्ताव बोर्ड के सदस्यों के सामने रखा जाएगा. इस संबंध में एआईएमपीएलबी के कार्यकारी सदस्य मौलाना ने जानकारी दी.

एक निजी चैनल से हुई बातचीत में मौलाना खालिद राशीद फिरंगी महली ने कहा कि टीवी पर आजकल बहुत सारे फर्जी मौलाना दिखाई दे रहे हैं. इन्हें न इस्लाम का ज्ञान है और न ही शरियत कानून के बारे में कुछ पता है. उन्होंने कहा कि ऐसे फर्जी मौलानाओं पर शिकंजा कसा जाना चाहिए, क्योंकि वो मुस्लिम समुदाय को बदनाम कर रहे हैं.

मौलाना खालिद ने आगे कहा, आजकल टीवी पर बहुत सारे मौलाना और मौलवी दिख रहे हैं जिनकी कोई विश्वसनीयता नहीं है. वो बस एक टोपी पहनकर और दाढ़ी बढाकर टीवी पर बोलने पहुंच जाते हैं. इनके पास इस्लाम और शरिया का कोई ज्ञान नहीं है, जिससे ये मुस्लिम समुदाय की बदनामी का कारण बन रहे हैं. 
उन्होंने कहा कि वो जल्द ही वो आल इंडिया पर्सनल लॉ बोर्ड के समक्ष फर्जी मौलवी और मौलाना के खिलाफ प्रस्ताव रखेंगे, ताकि फर्जी मौलानाओं पर सख्त कार्रवाई की जा सके और टेलीविज़न डिबेट में सत्यापित लोग ही शामिल हो सकें. 

तीन तलाक के लिए भी मौलाना खालिद ने फर्जी मौलानाओं को जिम्मेदार ठहराया. उन्होंने कहा कि एक बार में तीन तलक और अन्य शरिया कानून का दुरूपयोग भी ये फर्जी मौलवी और मौलाना कर रहे हैं. क्योंकि उन्हें पता है नहीं है कि शरिया कानून में तीन तलाक की प्रक्रिया क्या है.

No comments:

Powered by Blogger.