Header Ads

ताज़ा खबर
recentposts

इस जवान की हौसला अफ़ज़ाई करें ! Is police wale ka hooshla afjai kare

दिल्ली पुलिस की एक पीसीआर ट्रामा सेंटर इमरजेंसी गेट पर आकर रुकी ड्राइवर सीट से एक दिल्ली पुलिस का जवान तेज़ी से उतरा उसने पिछली सीट का दरवाज़ा खोला उसमे से तीन ज़ख़्मी इंसान को उतारा उसके बाद चौथे शख्स को जो आगे बैठा था उसे उतारकर अंदर इमरजेंसी में भेजा ! पुलिस का यह जवान अब पीसीआर की सीट और नीचे लगे खून को धोने लगा यहाँ तक की उसने सारे खून को गाडी से साफ़ कर दिया ! मैं पास ही खड़ा शुरू से उसे देख रहा था मुझसे रहा नहीं गया तो मैं उस जवान के पास चला गया और नमस्कार करके पूछा की आप अकेले ! उसने बताया के शाम ७.३० बजे मेरी ड्यूटी ख़तम हो गयी थी की पीसीआर की कॉल आयी मैं कॉल पर चला गया इन लोगों में आपस में झगड़ा हुआ था ज़ख़्मी थे इसलिए यहाँ ले आया अब घर जाऊँगा ! इस जवान का डेडिकेशन देख कर मेरी नज़र में उसकी इज़्ज़त बहुत ज़्यादा बढ़ गयी मैंने शुक्रिया अदा किया सोचने लगा की अगर ऐसे ही हमारे सारे पुलिस वाले हो जाएँ तो आम जनता में पुलिस की इज़्ज़त कितनी बढ़ जाएगी ! मैं इस जवान को सलाम करता हूँ ! इस पोस्ट को ज़्यादा से ज़्यादा शेयर करके इस जवान की हौसला अफ़ज़ाई करें !

Is police wale ka hooshla afjai kare

No comments:

Powered by Blogger.