Header Ads

ताज़ा खबर
recentposts

पीएम मोदी ने फिर दिखाई देशभक्ति, भगत सिंह का वो काम पूरा किया जिसको पूरा भारत भूल चूका था pm-narendra-modi-bhagat-singh


30 मार्च 1930 को रात तक़रीबन 11:30 पर माँ भारती के एक सच्चे सपूत ने जेनेवा के एक हॉस्पिटल में अपनी आखिरी साँसे ली थी. माँ भारती के इस वीर सपूत का नाम था श्याम जी कृष्ण वर्मा. श्याम जी कृष्ण वर्मा की मोत पर भगत सिंह और उनके साथियो ने लाहौर की जेल में शोक सभा भी रखी थी जबकि वो खुद जानते थे की वो कुछ दिन के ही मेहमान थे !

आपकी जानकारी के लिए बता दें माँ भारती के इस सच्चे सपूत की मौत के बाद जेनेवा के सेण्ट जॉर्ज सीमेट्री में उनकी अस्थियो को सुरक्षित रख दिया गया था. और समय बीतता गया ऐसे ही 17 साल गुजर निकले, फिर भारत आजाद हो गया. पर किसी को भी शायद माँ भारती के इस सच्चे सपूत की अस्थियों को भारत लाना याद भी ना रहा, और ना किसी ने लाने की कोशिश की थी. देखते ही देखते भारत की आजादी के 50 साल से ज्यादा भी निकल गए पर श्याम जी कृष्ण वर्मा की अस्थियाँ को कोई भारत नहीं लाया था. अगले पेज पर पढ़े, 2003 में मोदी जी ने कैसे किया वो काम जिसको कांग्रेस 50 वर्षो से ज्यादा तक भुलाये बैठी थी….

आजादी के 50 साल से ज्यादा बीत जाने पर इस गुजराती क्रन्तिकारी की सुध देश के मौजूद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने ली और साल 2003 में नरेन्द्र मोदी जी जेनेवा से से श्यामजी और उनकी पत्नी भानुमति की अस्थियां लेकर भारत आएं, जिसकी सुध किसी कांग्रेस ने आजादी के बाद से आज तक कभी ना ली थी. आपकी जानकारी के लिए बता दें मोदी जी मुंबई से श्याम जी कृष्ण वर्मा के जन्मस्थान मांडवी तक एक भव्य जुलुस के साथ  अस्थि कलश राजकीय सम्मान के साथ लेकर आए थे.


साथ ही श्याम जी के जन्म स्थान पर एक भव्य स्मारक क्रांति तीर्थ का भी निर्माण किया गया और उनकी अस्थियो को श्यामजी कृष्ण वर्मा कक्ष में महफूज रखा गया ! आपकी जानकारी के लिए बता दें श्याम जी कृष्ण वर्मा का जैसा लंदन में इंडिया हाउस होता था ठीक वेइस ही मोदी जी ने क्रांति तीर्थ बनाने की कोशिश की.

साथ ही श्याम जी के जन्म स्थान पर एक भव्य स्मारक क्रांति तीर्थ का भी निर्माण किया गया और उनकी अस्थियो को श्यामजी कृष्ण वर्मा कक्ष में महफूज रखा गया ! आपकी जानकारी के लिए बता दें श्याम जी कृष्ण वर्मा का जैसा लंदन में इंडिया हाउस होता था ठीक वेइस ही मोदी जी ने क्रांति तीर्थ बनाने की कोशिश की. अगले पेज पर पढ़े मोदी जी ने माँ भारती के एक क्रांतिकारी को कैसे दिलवाया सम्मान…..

No comments:

Powered by Blogger.